कोरोना वायरस के डर से इन दिनों पूरा देश अपने – अपने घरों में दुबक कर बैठा है. वैसे लोग जो घूमने – फिरने के शौकीन हैं, कोरोना के कारण उनकी घुमक्कड़ी भी बंद हो गयी है. हालांकि जिस तरह से कई पाबंदियों के साथ बाजार खुल रहे हैं, सड़कों पर गाड़ियां दौड़ने लगी हैं. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा है. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए ये तो तय है कि लॉकडाउन भले ख़त्म हो जाए पर अब ये सब लंबे समय तक रहने वाला है. वैसे अभी ये कहना मुश्किल है कि लोग ट्रेवल के लिए खुद को कितना तैयार कर पाएंगे, पर एक सच्चाई यह भी है कि लॉकडाउन के बाद जब स्थिति सामान्य होगी तब लोगों की यात्रा पहले जैसी नहीं रह पाएगी. आने वाले वक़्त में डेस्टिनेशन और मोड ऑफ ट्रांसपोर्ट के अनुसार आपको कई चीजें बदली – बदली दिखेगी.

ये बनेंगे आपके सफ़र के अब नए साथी

परिस्थितियां सामान्य होने के बाद सैर – सपाटे पर निकल रहे लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग सबसे जरुरी होगा. वहीं, आपके सामानों की पैकिंग में कैमरे, मोबाइल और ब्रांडेड कपड़ों, शूज के साथ – साथ अब मास्क, सेनिटाइजर, ग्लव्स, वाइप्स, डिस्पोजेबल कैप आपके सफ़र के नए साथी होंगे. इनके बगैर तो आप ट्रेवल करने की बात तो सोच ही नहीं सकते.

रेलवे स्टेशनों से लेकर जहां आप घूमने जाएंगे, आपको अपना हैंड सैनिटाइजर साथ रखना होगा. अगर संभव हो सके तो वेट वाइप्स भी अपने साथ रखें, ताकि अपनी सीट और विंडो को बैठने से पहले साफ़ कर सकें.

अपनी गाड़ी से जाना होगा ज्यादा सेफ

वीकेंड या छुट्टियों में अगर आप अपनी फैमिली या फ्रेंड्स के साथ यात्रा पर निकल रहे, और आपका डेस्टिनेशन ज्यादा दूर नहीं है तो अपनी गाड़ी से ही ट्रेवल करना ज्यादा सेफ होगा. अभी कुछ समय तक पब्लिक ट्रांसपोर्ट को अवॉयड करने की कोशिश कीजिए. हालांकि अब ग्रुप आउटिंग कुछ दिनों के लिए सपने जैसा ही रहेगा.

होटल्स में रुकना होगा काफी महंगा

लॉकडाउन के बाद ट्रेवलिंग गाइडलाइन्स में कई बदलाव देखने को मिलेंगे. यात्रा पर जाने वाले लोगों के लिए सबसे बड़ी चिंता अपने स्वास्थ्य सुरक्षा की होगी. इसे लेकर ही आपको ज्यादा पैसे खर्च करने पड़ सकते हैं. कारण अब आपको अच्छा और हाईजीनिक होटल तलाशना पड़ सकता है. जहां सेनिटाइजेशन का खास ख्याल रखा जाता है. ऐसे में साफ़ – सफाई और सुविधाओं को लेकर होटल और रिसोर्ट वाले अपनी बुकिंग प्राइस बढ़ा सकते हैं.

लॉकडाउन के बाद की ओयो कर रहा ऐसे तैयारी

कोरोना को लेकर, ऑनलाइन होटल बुकिंग प्लेटफार्म कंपनी ओयो ने भी अपनी तैयारी तेज कर दी है. कंपनी इस बात पर ज्यादा फोकस कर रही है कि उनके होटल में आने वाले गेस्ट को पूरी तरह टचलेस एक्स्पीरिएंस मिले. इसके लिए OYO चेक इन – चेक आउट के साथ – साथ हाउस कीपिंग और रूम सर्विस को भी कम से कम मानवीय टच वाला बनाने की रणनीति पर काम कर रही है. वहीं, ओयो अपने सभी प्रोपर्टीज पर सेनिटाइज्ड स्टे का टैग भी डिस्प्ले करेगी, जो अपने कस्टमर्स को इस बात की गारंटी देगी, कि वहां की सभी सुविधाएं पूरी तरीके से सुरक्षित हैं.

सफ़र के दौरान घर का खाना मिटाएगा भूख

यात्रा के दौरान अगर आप भी फ्लाइट या ट्रेन में खाना आर्डर कर अपनी भूख मिटाते हैं तो अब अपनी आदत बदल लीजिए. क्योंकि लॉकडाउन के बाद यात्रा के जो आपके अनुभव हैं, अब वो भी बदल जाएंगे. सफ़र पर निकल रहे हैं तो अपने साथ खाना और पानी भी जरुर रखें. पहले जहां टिकट के साथ ही पीने का पानी और खाने की सुविधा मिलती थी, अब उसके लिए एक्स्ट्रा पैसे चार्ज किए जाएंगे.

यह भी जानिए : ई-टिकट वालों के अकाउंट में आएगा रिफंड, काउंटर टिकट वालों को भी रेलवे ने दी इतनी सुविधा

चादर – तकिया साथ लेकर चलें

कल तक ट्रेनों में अगर आपकी रात भारतीय रेलवे के बेडरोल के सहारे बीतती थी, तो अब अपनी आदत बदल लीजिए. क्योंकि राजधानी ट्रेनों में यात्रा के दौरान यात्रियों को जो भी चादर – तकिए और कंबल दिए जाते थे, उस सुविधा को अब बंद कर दिया गया है. ऐसे में अब आपको ये सब चीजें अपने घर से ही साथ ले जानी होगी.

यह भी जानिए : कोरोना ने बंद करा दी लोगों की घुमक्कड़ी, बिहार में सभी टूरिस्ट प्लेस में अभी नो इंट्री

बहरहाल, लॉकडाउन के बाद अब जिंदगी किस तरह पटरी पर लौटती है ये तो वक़्त बताएगा, लेकिन इतना तो तय है कि आने वाले दिनों में हमारी लाइफ में अभी काफी बदलाव आने हैं, जिसे एक्सेप्ट करने के लिए हमें अभी से ही मेंटली तैयार होना होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here