कोरोना वायरस के संक्रमण और लॉकडाउन के दौरान देश में हवाई यात्रा फिर से शुरू हो गई है. केंद्र के निर्देश के बाद भी हालांकि कई राज्य हवाई यात्रा को अभी शुरू करने के पक्ष में नहीं थे. बावजूद आंध्रप्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर पूरे देश में हवाई जहाज उड़ने लगे हैं. इधर कई राज्यों ने भी आने वाले यात्रियों के लिए क्वारंटाइन और आइसोलेशन को लेकर कई तरह की नियमों और गाइडलाइन्स की घोषणा की है. आइए जानते हैं एयर पैसेंजर्स को लेकर क्या है राज्यों के नियम.

दिल्ली सरकार के नियम

फ्लाइट से अगर आप देश की राजधानी दिल्ली जाते हैं, तो यहां आपको क्वारंटाइन में रहना जरुरी नहीं होगा. हालांकि बिना लक्षण वाले यात्रियों को 14 दिनों तक अपने स्वास्थ्य पर नजर रखना होगा. अगर इस दौरान उनमें कोई लक्षण दिखता है तो ऐसे में तुरंत जिला निगरानी अधिकारी या कॉल सेंटर के 1075 नंबर पर सूचना देनी होगी. वहीं इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरने वाले किसी यात्री में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं, तो उन्हें तत्काल अलग कर नजदीकी स्वास्थ्य सुविधा केंद्र में ले जाया जाएगा. जहां उनका परीक्षण किया जाएगा. जिन लोगों में हल्के लक्षण पाए जाएंगे उन्हें कोविड – 19 देखभाल केंद्र या घरों ने ही अगले सात दिन आइसोलेशन का विकल्प दिया जाएगा.

उत्तर प्रदेश में ये हैं नियम

यूपी आनेवाले लोगों को 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन में रहना होगा. 6 दिनों के बाद उनकी फिर जांच की जाएगी. अगर टेस्ट निगेटिव आई तो क्वारंटाइन को समाप्त कर दिया जाएगा. अगर एक सप्ताह से कम समय के लिए यूपी आ रहे हैं या फिर यहां से कहीं और रवाना होना है, तो वैसे लोगों को एयरपोर्ट से बाहर निकलने से पहले अपने वापसी टिकट की पूरी जानकारी देनी होगी.

ये भी पढ़ें : सागर की लहरों से भींगता जहां तन –मन, चलो घूम आएं वो दमन..

महाराष्ट्र सरकार की गाइडलाइन्स

हवाई यात्रा के नियमों को लेकर महाराष्ट्र सरकार भी सख्त है. यहां मुंबई एयरपोर्ट से हर रोज सिर्फ 50 घरेलू विमानों को ही उड़ान भरने की अनुमति दी गयी है. जिन लोगों में कोरोना वायरस से संबंधित किसी तरह के लक्षण नहीं हैं, उन्हें भी होम क्वारंटाइनकिया जा सकता है. हालांकि कम दिनों के लिए शहर आने वाले लोगों को थोड़ी छूट मिल सकती है.

केरल आने के लिए एंट्री पास जरुरी

केरल सरकार ने राज्य में आने वाले लोगों के लिए एंट्री पास जरुरी कर दिया है. इसके लिए घरेलू यात्रियों को covid19jagratha.kerala.nic.in पर खुद को रजिस्टर करना होगा. बिना पास वालों को 14 दिनों के क्वारंटाइन में रहना होगा. अगर आप केरल बिजनेस या अन्य किसी काम से सिर्फ थोड़े दिनों के लिए आ रहे हैं तो क्वारंटाइन में रहना जरुरी नहीं होगा. यात्रियों की सुविधा के लिए यहां तिरुवनंतपुरम से केरल परिवहन विभाग की बसें चलेंगी. इससे लोग दूसरे जिलों तक जा सकते हैं.

पंजाब में क्वारंटाइन अनिवार्य

पंजाब आने वाले लोगों को 14 दिनों के क्वारंटाइन में रहने को सरकार ने अपने गाइडलाइन्स में स्पष्ट कहा है. सीएम कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने विमान, ट्रेन या बस से राज्य में आने वाले लोगों को घर में 14 दिनों तक अनिवार्य रूप से रहने की घोषणा की है. यहां रैपिड टेस्टिंग टीम होम क्वारंटाइन में रहने वाले लोगों की जांच करेगी.

ये भी पढ़ें : विन्ध्याचल यात्रा, बनारस भ्रमण भाग-4

हिमाचल प्रदेश में होना पड़ेगा क्वारंटाइन

हिमाचल प्रदेश आने वाले घरेलू यात्रियों को आने की अनुमति दी जाएगी. उन्हें थर्मल स्क्रीनिंग से गुजरना पड़ेगा. यहां 28 दिनों के क्वारंटाइन का प्रावधान किया गया है.

बिहार में रहना होगा पेड क्वारंटाइन पर

बिहार आने वाले एयर पैसेंजर्स को 14 दिनों के लिए पेड क्वारंटाइन में रहना होगा. यानि यात्रियों को 14 दिन सरकारी क्वारंटाइन सेंटर पर बिताने होंगे, लेकिन अपने खर्चे पर. वहीं घरेलू यात्रियों को घर में ही क्वारंटाइन की छूट दी गयी है. जबकि अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों को सरकारी क्वारंटाइन में रहना होगा.

झारखंड में सोरेन सरकार का निर्देश

हवाई यात्रा को लेकर झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार ने भी गाइडलाइन्स की घोषणा की है. यहां आने वाले लोगों को अपने घर में ही 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना होगा.

छतीसगढ़ सरकार की गाइडलाइन्स

छतीसगढ़ में बिना लक्षण वाले यात्रियों को भी 14 दिनों तक क्वारंटाइन में रहना होगा. हालांकि, वे कहां रहना चाहते हैं घर या होटल, इसे चुनने की उन्हें आजादी रहेगी.

ये भी पढ़ें : वलसाड़: समुंद्री किनारे,मंदिर,किले और अल्फांसों आम का शहर

उत्तराखंड सरकार के नियम

उत्तराखंड में फ्लाइट से उतरने वाले यात्रियों को दस दिन सरकारी क्वारंटाइन में बिताना होगा. उसके बाद स्वास्थ्य अधिकारियों के सलाह पर होम क्वारंटाइन के लिए भेजा जा सकता है.

गोवा में देना होगा शपथ पत्र

गोवा आने वाले सभी यात्रियों को एयरपोर्ट पर ही एक शपथ पत्र देना होगा. अगर फ्लाइट से उतरे किसी एयर पैसेंजर में कोई लक्षण नजर आता है. तो उसे टेस्ट और क्वारंटाइन के लिए भेजा जाएगा.

तमिलनाडु में 14 दिनों का क्वारंटाइन

तमिलनाडु सरकार की गाइडलाइन्स के मुताबिक यहां आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. एयरपोर्ट पर सभी लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. राज्य में आने वाले लोगों को 14 दिनों के क्वारंटाइन में रहना होगा.

कर्नाटक में जानिए क्या है नियम

देश के अन्य राज्यों को देखते हुए कर्नाटक सरकार ने भी अपने राज्य के लिए कई दिशा – निर्देश दिए हैं. यहां महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्यप्रदेश, गुजरात, राजस्थान और तमिलनाडु से आने वाले लोगों के लिए 7 दिनों का सरकारी क्वारंटाइन जरुरी होगा.

ये भी पढ़ें : ट्रेवल डायरी: उज्जैन के महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का दर्शन कर लौटीं जर्नलिस्ट नीतू, बता रहीं अपने अनुभव

मणिपुर में ये है नियम

मणिपुर में हवाई जहाज से आने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. जिन यात्रियों में कोई लक्षण नहीं दिखेगा उन्हें होम क्वारंटाइन के लिए भेज दिया जायेगा. वहीं, जिनमें लक्षण मिलेगा उन्हें आइसोलेशन में भेजा जायेगा.

राजस्थान घूमने की मिलेगी अनुमति, पर…

अगर आप फ्लाइट से राजस्थान आ रहे हैं तो यहां के नियमों को जानना आपके लिए बहुत जरुरी है. जयपुर एयरपोर्ट पर उतरने वाले सभी यात्रियों को 14 दिनों के होम क्वारंटाइन में रहना होगा. लेकिन अगर आप कारोबार संबंधित काम से आ रहे हैं और जिनकी वैसे लोग जिनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है, उन्हें सात दिनों के बाद घूमने की अनुमति दे दी जाएगी.

ये भी पढ़ें : बाबाधाम से बासुकीनाथ की यात्रा : पूर्ण हुई जहां हमारी अधूरी पूजा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here