इस उमस भरी गर्मी से परेशान होकर अगर आप घूमने के लिए उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन शहर और सरोवर नगरी नैनीताल के सफर पर जाने की प्लानिंग कर रहे हैं तो अपने ट्रेवल प्लान को अभी चेंज कर लीजिए, वरना आपको भी कई मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।
अगर आप अपनी छुट्टी मनाने के लिए यहां आने की सोच रहे हैं तो आजकल यह शहर आपका स्वागत नहीं, बल्कि आपसे वापस लौट जाने की अपील कर रहा। तभी तो सैलानियों के लिए यहां जगह जगह हाउसफुल के बैनर लग गए हैं।

बढ़ गयी है पार्किंग की समस्या
दरअसल, जून के इस महीने में नैनीताल आने वाले टूरिस्टों की संख्या इतनी ज्यादा हो गयी है कि इसका असर यहां के पार्किंग पर पड़ रहा है। पुलिस को यातायात नियंत्रित करने में खासी मसक्कत करनी पड़ रही। पुलिस अधिकारियों का कहना है शहर में कुल 12 पार्किंग प्लेस हैं। यहां करीब 2000 फोरव्हीलर गाड़ियां पार्क हो सकती है। लेकिन इन दिनों नैनीताल में हर रोज तीन से चार हजार गाड़ियों का प्रवेश हो रहा, जिससे जाम की स्थिति बन गयी है। इधर लोगों की परेशानियों को देखते हुए हाइकोर्ट ने पुलिस को पार्किंग प्लान तैयार करने का निर्देश दिया है। जिसके बाद स्थिति से निपटने के लिए पुलिस ने अब हाउसफुल का बोर्ड ही लगा दिया। प्रशासन का साफ तौर पर यही कहना है कि दिल्ली- यूपी के पर्यटक वीकेंड मनाने आ रहे जिसके कारण ट्रैफिक की स्थिति बिल्कुल खराब हो गयी है। इसलिए बाहर से आने वाले लोगों के वाहन को शहर के बाहरी इलाके कालाडूंगी, नारायण नगर,रूसी बाईपास के पास अस्थायी तौर पर रोका जा रहा।

शहर के सभी होटल भी बुक
नैनीताल की हसीन वादियों में खोने का प्लान ड्राप करना ही पड़ेगा, क्योंकि इस शहर के साथ साथ यहां के होटल भी हाउसफुल हो गए हैं।
अधिक पर्यटकों के पहुंचने की वजह से सभी होटल्स, रिसोर्ट पहले से ही बुक है। यहां आने वाले लोगों को एक रूम के लिए दिन-दिन भर खाक छाननी पड़ रही है। कहीं रूम खाली भी होते हैं तो होटल वाले उसका रेट महंगा कर टूरिस्टों को प्रोवाइड करा रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here